गलत साबित हुआ अमेरिका का दावा, ईरान के मिसाइल अटैक में 11 अमेरिकी सैनिक हुए थे घायल।

इंटरनेशनल डेस्क :  ईरान और अमेरिका के  बीच चल रहे तनाव अपने चरम पर पहुंचने वाला था हलाकि इसके आसार अभी भी देखे जा सकते है पिछले दिनों कुद्स फोर्स के कमांडर मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद ईरान ने इराक में अमेरिकी एयर बेस पर मिसाइल से हमला किया था. हमले के बाद अमेरिका ने दावा किया था कि उनका कोई सैनिक घायल नहीं हुआ था.  लेकिन अब खबरें आ रही हैं कि इस हमले में अमेरिका के 11 सैनिक घायल हुए थे.

ईरान ने दावा किया था कि मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला लेने के लिए अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर करीब दो दर्जन मिसाइल से हमले किए गए. ये भी दावा किया गया कि इस हमले में करीब 80 अमेरिकी सैनिकों की मौत हो गई. हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के इन दावों को खारिज कर दिया था. उन्होंने कहा था कि कोई भी अमेरिकी सैनिक इस हमले में हताहत नहीं हुआ. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कई घंटे पहले अमेरिका को इन मिसाइल अटैक की भनक लग गई थी. कहा जा रहा है कि अमेरिका को इसकी जानकारी सैटेलाइट से मिली. ये वही सेटेलाइट है, जिससे नॉर्थ कोरिया के न्यूक्लियर टेस्ट पर नजर रहती है. लिहाजा सूचना मिलते ही अमेरिकी सैनिक बंकर में घुस गए. ट्रंप ने भी कहा कि हमले से पहले अलार्म सिस्टम बज गए थे, जिससे किसी की भी जान नहीं गई.

ईरान ने मिसाइल से मुख्य तौर पर अमेरिका के दो एयरबेस अल-असद और इरबिल को निशाना बनाने की कोशिश की थी. रिपोर्ट्स के मुताबिक, ईरान ने रात 1:45 से 2:15 के बीच 22 मिसाइलें दागी थींं. इनमें 17 मिसाइलें अल-असद एयरबेस की तरफ दागी गईंं. अल-असद के पास पांच स्ट्रक्चर को निशाना बनाया गया. कई ऐसे निशाने साधे गए, जो बेकार थे और इनसे कोई नुकसान नहीं हुआ. एक मिसाइल तो अल-असद एयर बेस से 40 किलोमीटर दूर हितान गांव में गिरीं. एक और मिसाइल इरबिल से 47 किलोमीटर दूर बराह में गिरीं.

1 thought on “गलत साबित हुआ अमेरिका का दावा, ईरान के मिसाइल अटैक में 11 अमेरिकी सैनिक हुए थे घायल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: