कोरोना पेशेंट के लिए अपना प्लाज्मा देकर इंसानियत की मिसाल पेश करने वाले युवाओं को महापौर ने किया सम्मानित

ऋषिकेश- नगर निगम महापौर अनिता ममगाई ने कहा कि किसी की जान बचाने से बड़कर दुनिया में और कोई पुण्य का काम नही है। वैश्विक महामारी कोरोनावायरस की चपेट में आए लोगों को अपना प्लाज्मा देकर उनकी जान बचाने वाले सही मायनों में न सिर्फ सच्चे पुण्य के भागी है बल्कि वह वह रियल कोरोना योद्वा भी हैं। उक्त विचार नगर निगम महापौर ने आज दोपहर अपने कैंप कार्यालय में कोरोनावायरस को मात देकर 2 लोगों की जान बचाने के लिए अपना प्लाज्मा देने के लिए आगे आए शहर के नौजवान प्रदीप कुमार शाह एवं नरेंद्र सिंह चौधरी को सम्मानित करते हुए व्यक्त किए।

प्लाज्मा देने वाली दोनों युवाओं के सराहनीय कार्य को देखते हुए महापौर अनिता ममगाई द्वारा कैंप कार्यालय में उनको शॉल ओढ़ाकर एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया । इस अवसर पर महापौर ने कहा कि अपना प्लाज्मा डोनेट करने वाले समाज के सामने इंसानियत की मिसाल पेश कर रहे हैं।उन्होंने कहा कि “कोरोनावायरस से ठीक होने वाले व्यक्ति के शरीर में एक विशेष प्रकार का एंटीबॉडी बनता है।

“खुद पैर में गोली मारकर पुलिस को दी झूठी सूचना….गिरफ्तार”

इससे वह कोरोना को हराने में सक्षम हो पाता है।कुछ रोगियों के शरीर में एंटीबॉडीज नहीं बन पाते या फिर उनके बनने की प्रक्रिया बहुत धीमी होती है ।ऐसे में ठीक हो चुके रोगियों के रक्त का प्लाज्मा लेकर बीमार रोगियों को चढ़ाया जाता है जिससे वे कोरोना वायरस को हरा सके। इस प्रक्रिया को प्लाज्मा थेरपी के अलावा एंटीबॉडी थेरपी भी कहा जाता है। किसी खास वायरस या बैक्टीरिया के खिलाफ शरीर में एंटीबॉडी तभी बनता है, जब इंसान उससे पीड़ित होता है। इस मौके पर महापौर ने दोनों युवाओं को प्लाज्मा देने के लिए प्रेरित करने वाले नगर निगम पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट की भी मुक्त कंठ से सराहना की। इस दौरान पार्षद राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट, जिला मंत्री पंकज शर्मा, पवन शर्मा, राजपाल ठाकुर, संजू प्रेम सिंह बिष्ट, रंजन अंथवाल, गौरव कैंथोला,अजय गोयल,गौरव राणा आदि मोजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

%d bloggers like this: