कोरोना काल में कैसे मनेगा स्वतंत्रता दिवस, गृह मंत्रालय ने जारी किये दिशा निर्देश!

न्यूज़ डेस्क:  कोरोना वायरस आज विश्व की सबसे बड़ी चुनौती बनी हुई है जिसका अभी तक कोई भी तोड़ नहीं निकाला गया है, कोरोना वायरस से जंग में अभी तक मानव ने किसी भी प्रकार का कोई हथियार तैयार नहीं किया, जैसा कि हम जानते हैं कोरोना वायरस के चलते सभी क्षेत्र प्रभावित हुए है, चाहे वह किसी बिज़नेस से संबंधित हो या देश की अर्थव्यवस्था, या देश के किसी पर्व पर हो कोरोनावायरस से प्रत्येक क्षेत्र प्रभावित है, वहीं अब देश का सबसे बड़ा पर्व स्वाधीनता दिवस को लेकर प्रशासन समेत लोगो में भी असमंजस था,  लेकिन अब ग्रह मंत्रालय ने विशेष गाइडलाइन जारी कर दी है, जिसके चलते अब लोगो का असमंजस दूर हो गया है,

यह भी पड़े:- शुक्रवार को अल्मोड़ा जिले के इन ब्लॉकों से मिले 31 नए कोरोना मरीज, देखे लिस्ट।

यह एडवाइजरी राज्य सरकारों, केंद्र शासित प्रदेशों, सरकारी ऑफिसों और राज्यपालों को भेजी गई है। ग्रह मंत्रालय कि एडवाइजरी में 15 अगस्त के मौके पर सामूहिक कार्यक्रम आयोजित नहीं करने की सलाह दी गई। ग्रह मंत्रालय ने अपने जारी दिशा निर्देश में कहा कि कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए मास्क लगाना, सैनिटाइजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी, होगा स्वतंत्रता दिवस पर भीड़ इकट्ठी ना हो इसका खास ख्याल रखना होगा साथ ही कहां गया कि सार्वजनिक समारोह करने से बचें और समारोह के लिए तकनीकों का इस्तेमाल करें, बुजुर्गों को ऐसे आयोजनों में शामिल ना होने की हिदायत भी दिए गए हैं साथ ही निर्देशों का पालन करना आवश्यक होगा, यह भी बताया गया की स्वतंत्र दिवस पर होने वाले कार्यक्रमों में कोरोना योद्धाओं, डॉक्टर ,स्वास्थ्यकर्मी, स्वच्छता कर्मियों को आमंत्रित कर उनके योगदान को सराहा जाएगा,  इसके साथ ही कोरोना की जंग जीत कर आए लोगों को भी कार्यक्रम में आमंत्रित किया जा सकता है, गृह मंत्रालय ने यह भी कहा कि राज्यों की राजधानी के अलावा जिले ब्लॉक, पंचायतों में होने वाले कार्यक्रमों के दौरान इसी तरह कोरोना योद्धाओं के योगदान को याद करने के लिए आमंत्रित किया जाना चाहिए।

यह भी पड़े:- लॉकडाउन में सन्नाटा, लोगों ने किया आदेश का पालन

वही भारत में कोरोना (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या 13 लाख 37 हजार 22  पहुंच गई है, जिसमे से 8 लाख 50 हजार 107 मरीज ठीक होकर घर लौट गए है। आपको बता दे कि पिछले 24 घंटे में 48,895 नए मामले सामने आये है। पिछले कुछ दिन से हर रोज़ औसतन 40 हज़ार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. राहत की बात ये है कि दिल्ली और मुंबई जैसे महानगरों में कोरोना की रफ्तार में थोड़ी कमी आई है, लेकिन देश के दूसरे राज्यों में कोरोना ने केंद्र सरकार की चिंता बढ़ा दी है. खासकर बिहार, कर्नाटक और असम में कोरोना का संक्रमण तेज़ी से पांव पसार रहा है. लिहाज़ा हालात को देखते हुए केंद्र सरकार ने इन राज्यों के साथ नई रणनीति तैयार करने के लिए शुक्रवार को एक हाई लेवल रिव्यू मीटिंग बुलाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: