कनाडा के पूर्व मंत्री ने अफगानिस्तान में प्रॉक्सी वॉर, में पाकिस्तान के शामिल होने का आरोप लगाया।

काबुल:

अफगानिस्तान में राजदूत रह, चुके क्रिस अलेक्जेंडर ने पाकिस्तान पर हमला बोला है। मंत्री ने पाक पर अफगानिस्तान में 'प्रॉक्सी वॉर' में शामिल होने का आरोप लगाया है। क्रिस ने दुनिया से अपील किया है, कि तालिबान को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगाना जाए। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, क्रिस ने तालिबान आतंकियों के पाकिस्‍तान सीमा पर इंतजार करने की तस्‍वीर भी पोस्‍ट करते हुए कहा कि अगर कोई मानता है कि पाकिस्‍तान- अफगानिस्‍तान के खिलाफ आक्रामक कार्रवाई में शामिल नहीं है, तो वह भी इस 'प्रॉक्सी वॉर' में अपराधी है।

क्रिस ने यह भी बताया। कि पाक प्रधानमंत्री इमरान खान पूरी तरह से जालसाज  है। जो दशकों तक तालिबान को बढ़ावा देने में शामिल रहा हैं। कनाडा के पूर्व मंत्री के इस बयान पर पाकिस्‍तान सरकार भड़क उठी।

क्रिस के इस बयान की कड़ी निंदा करते हुए पाकिस्तान ने कहा कि अफगान शांति को लेकर बनी समझ के साथ धोखा है। उनका बयान जमीनी वास्तविकता से मेल नहीं खाता है। पाकिस्‍तान के इस बयान पर क्रिस ने भी करारा जबाब देते हुए, कहा कि पीएम इमरान खान और पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के नाजायज और भ्रामक दावे उन सभी के साथ बेइमानी है जिन्‍होंने अफगान शांति और स्थिरता पर काम करने को कहा था।

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री और मंत्रियों पर अफगान नेता तालिबान की खुलकर मदद करने का आरोप लगा रहे हैं। और यही नहीं पाकिस्‍तानी सैनिक और आतंकी अफगानिस्‍तान में जंग लड़ते हुए देखे जा चुके हैं। अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी ने भी पाकिस्‍तान की पोल खोलकर रख दी।

पिछले दिनों पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि अफगानिस्तान की बिगड़ती स्थिति के लिए उनके देश के खिलाफ बार-बार आरोप लगाना बेमतलब है। प्रधानमंत्री ने कहा था, कि इस्लामाबाद हमेशा शांति और अपने पड़ोसीयो  के लिए एक समावेशी सरकार की स्थापना चाहता है, क्योंकि यह दोनों देशों के लिए हितकर है।

इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि पाकिस्तान तालिबान का प्रतिनिधि नहीं है और ना की इस संगठन से उनका कोई लेना-देना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: