बागेश्‍वर: उत्तराखंड के किसानो को भा रही कीवी की बागवानी, बन रही रोजगार का जरिया!

बागेश्‍वर: बागेश्‍वर जिले की कीवी का स्वाद लोगों को भाने लगा है। बरेली मंडी की डिमांड पर सोमवार को 20 क्विंटल कीवी भेजी गई गई है। बढ़ती मांग को देखते हुए काश्तकार भी प्रोत्साहित हो रहे हैं। जिले के कपकोर्ट ब्‍लॉक के शामा क्षेत्र में कीवी का उत्पादन पूर्व प्रधानाध्यापक भवान सिंह कोरंगा ने अपने खेतों में किया है। इससे पूर्व भी वह नौ क्विंटल कीवी बरेली मंडी भेज चुके हैं। लगातार मिल रही डिमांड को देखते हुए कोरंगा काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि अगर उनके उत्पाद को इसी तरह आसानी से बाजार मिल जाए तो वह अगली बार से और अधिक उत्पादन करेंगे। पहाड़ में पहली बार कीवी उत्पादन कर रहे कोरंगा आसपास के काश्तकारों को भी इसके लिए प्रेरित कर रहे हैं। जिला पंचायत सदस्य शामा हरीश ऐठानी ने कहा कि कीवी उत्पादन स्थानीय लोगों के लिए स्वरोजगार का बड़ा जरिया बन सकता है।

कोरंगा गांव में करते हैं कीवी की खेती

बागेश्‍वर शामा निवासी भवान सिंह कोरंगा शिक्षा विभाग से बतौर प्रधानाचार्य सेवानिवृत्त हैं। अपनी माटी से लगाव के चलते ही वह शिक्षा के मंदिरों में बच्चों को तरसाने के बाद गांव लौट आए। उन्होंने अपने खेतों में कीवी के पेड़ लगाए और पेड़ अब फल देने लगे हैं। उनका कहना है कि तमाम दिक्कतों के बावजूद शामा क्षेत्र सब्जी व फल उत्पादन के लिए मुफीद है। खेती से विमुख हो रहे पर्वतीय किसानों को प्रेरित कर वह फिर से खेतों की ओर लौटाना चाहते हैं। कोरंगा ने इस बार 28 क्विंटल कीवी का उत्पादन किया।

कीवी के कई लाभ

कीवी में विटामिन और मिनरल्स होते हैं। इसमें मौजूद विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट्स, फाइबर, पोटेशियम व अन्य तत्व डायबिटीज से लेकर डेंगू तक में राहत देते हैं।

1. एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर

विटामिन सी से भरपूर कीवी में पर्याप्‍त एंटी-ऑक्‍सीडेंट पाए जाते हैं।जो कई तरह के इंफेक्शन से सुरक्षित रखने में सहायक है।

2. कोलेस्ट्रॉल लेवल के लिए

कीवी कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक हैं। इसके नियमित सेवन से शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है। दिल से जुड़ी कई बीमारियों में ये मुख्य रूप से फायदेमंद है।

3. सूजन कम करने में मददगार

कीवी में इन्फ्लेमेटरी गुण पाया जाता है। ऐसे में अगर आपको अर्थराइटिस की शिकायत है तो कीवी का नियमित सेवन करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

4. कब्ज़ से राहत के लिए

कीवी में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है। कीवी के नियमित सेवन से कब्ज की समस्या में भी फायदा होता है। फाइबर की मौजूदगी से पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है।

5. डेंगू मरीज को आराम

जिला अस्पताल में तैनात डॉ. पंकज पंत ने कहा कि डेंगू होने पर बॉडी की ब्लड प्लेटलेट्स  तेजी से गिरने लगती हैं। इन प्लेटलेट्स की वृद्धि में कीवी काफी मदद करता है। ये शरीर को ताकत भी देता है, जिससे डेंगू से रिकवरी में भी मदद मिलती है।

6.कीवी की खेती से रुकेगा पलायन

भवान सिंह कोरंगा, किसान ने बताया कि कृषि मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित एकीकृत बागवानी विकास परियोजना के तहत किसानों को बागवानी के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। जिसके तहत पिछले साल से कीवी का उत्पादन कर रहा हूं। पहाड़ में काश्तकार यदि कीवी की खेती करते हैं तो यह पलायन रोकने और आर्थिकी सुधार में बड़ा कदम हो सकता है।

1 thought on “बागेश्‍वर: उत्तराखंड के किसानो को भा रही कीवी की बागवानी, बन रही रोजगार का जरिया!

  1. कीवी का पेड़ कब लगाया जाता है और कितने टाइम के बाद यह फल देने लगता है और इसका पौधा कहां से मिलेगा अगर आप इसकी डिटेल दें तो आपकी तरह पहाड़ में अन्य लोग भी इससे लगाकर अपनी आय वृद्धि का साधन बना सकते हैं धन्यवाद l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: