Wed. Feb 19th, 2020
reportsIndia do_action('covernews_action_get_breadcrumb');
                                   

उत्तराखंड: पंजाब की टीवी अभिनेत्री की उसके पति और एक दोस्त ने मिलकर की हत्या, जानिए क्या है पूरा मामला।

देहरादून: उत्तराखंड के नैनीताल जिले में पंजाब की एक टीवी अभिनेत्री की उसके पति और एक दोस्त ने मिलकर हत्या कर दी है. नैनीताल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पंजाब  से ताल्लुक रखने वाली 29 वर्षीय टीवी अभिनेत्री अनीता सिंह के पति रविंदर पाल सिंह को शक था कि उसकी पत्नी का अफेयर चल रहा है.

और इसी शक में उसने अपने दोस्त कुलदीप के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी और फिर पहचान छिपाने के लिए लाश को जला दिया.
पुलिस ने बताया कि पंजाब के फिरोजपुर के रहने वाले रविंदर ने अनीता को बताया कि उसके दोस्त कुलदीप का फिल्म जगत में काफी संपर्क है और वह उसे बॉलीवुड में काम दिला सकता है. इसी बहाने वह उसे कालाढूंगी ले आया. उन्होंने बताया कि रविंदर 30 जनवरी को अनिता को अपने साथ कालाढूंगी लाया और चाय में उसे नशीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया,

जिसके बाद वह बेहोश हो गई. इसके बाद रविंदर और कुलदीप ने उसका गला घोंट दिया तथा रात में उसका शव ठिकाने लगा दिया. दरअसल पिछले दिनों ग्रामीणों ने जंगल में बुरी तरह जला शव मिलने की सूचना पुलिस को दी. इसके बाद पुलिस ने उस ओर जाने वाली सड़क की सीसीटीवी फुटेज तलाशी और उन्हें वहां रात में एक कार गुजरती दिखाई दी. उस कार का नंबर लेकर जब उसके मालिक की खोज की गई तो वह हल्द्वानी का रहने वाला निकला. उससे पूछताछ में पता चला कि घटना वाली रात उसने अपनी कार दिल्ली निवासी अपने रिश्तेदार कुलदीप को दी थी. उसके बताये पते पर पुलिस दिल्ली पहुंची और कुलदीप से पूछताछ की. उसने बताया कि जंगल में मिली लाश पंजाब के फिरोजपुर में रहने वाले उसके दोस्त रविंदर पाल सिंह की पत्नी अनिता सिंह की है और उसकी हत्या करने के बाद उसका शव ठिकाने लगाने में उसने रविंदर का साथ दिया था. पूछताछ में उसने बताया कि रविंदर को अनिता का किसी और से प्रेम संबंध होने का शक था और इसलिए उसने हत्या की साजिश रची. नैनीताल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा ने बताया कि मामले की तह तक पहुंचने के लिए पुलिस को 100 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगालने पड़े. पुलिस ने दोनों अभियुक्तों, रविंदर और कुलदीप, को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) अशोक कुमार ने बताया कि मामले का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस मेडल या प्रशस्ति पत्र देने पर विचार किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *