Tue. Feb 25th, 2020
reportsIndia do_action('covernews_action_get_breadcrumb');
                                   

पीरियड्स में होती है परेशानी तो आजमाएं ये नुस्खा, मिल जाएगा छुटकारा।

न्यूज़ डेस्क: पीरियड्स के दौरान ज्यादातर लड़कियों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है. पेट के निचले हिस्से में दर्द, ऐंठन और मूड स्विंग होना तो काफी सामान्य है लेकिन कई बार लड़कियों में पीरियड्स की शुरुआत से कुछ दिनों पहले फ्लू जैसे लक्षण भी सामने आने लगते हैं. दरअसल इसे 'पीरियड फ्लू' कहा जाता है. सामान्य फ्लू की तरह ये समस्या रेस्पिरेटरी इंफेक्शन के कारण नहीं होती है. कुछ लोग तो इसे प्रेग्नेंसी भी समझ लेते हैं. आइए आपको बताते हैं पीरियड फ्लू के बारे में. पीरियड फ्लू के लक्षण कई बार पीरियड्स के कुछ दिनों पहले ही दिखने लगते हैं, इसलिए उल्टी, बुखार, मतली जैसे लक्षणों के कारण कुछ महिलाएं यह समझ लेती हैं कि वो प्रेग्नेंट हो गई हैं. ऐसे में बिना जानकारी के किसी दवा का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए. आप कंफर्मेशन के लिए घर पर ही छोटा सा प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकती हैं. हालांकि कुछ घरेलू उपायों की मदद से इसके लक्षणों को कम किया जा सकता है.

क्या है पीरियड फ्लू का कारण?
डॉक्टरों की मानें तो पीरियड फ्लू का सबसे बड़ा कारण पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर में होने वाले हॉर्मोनल बदलाव हैं. वैसे तो हर महिला के जीवन में कई ऐसे मौके आते हैं, जब हॉर्मोन्स असंतुलित हो जाता है लेकिन हर बार महिला को फ्लू जैसा महसूस हो ऐसा बिल्कुल जरूरी नहीं.

पीरियड फ्लू के लक्षण

पीरियड्स के दौरान होने वाली इस खास समस्या को 'पीरियड फ्लू' नाम दिया गया है. ये समस्या महिलाओं में पीरियड्स शुरू होने के कुछ दिनों पहले या उसी दौरान शुरू हो जाती है. इसमें फ्लू जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं. आइए आपको बताते हैं इसके लक्षणों के बारे में.

    • पेट में मरोड़ और ऐंठन की समस्या
    • मांसपेशियों में तेज दर्द
    • बुखार आना
    • चक्कर आना
    • उल्टी जैसा महसूस होना
    • कब्ज की परेशानी
    • थकान और आलस की समस्या
    • लगातार सिर दर्द होना

घरेलू उपाय करेंगे मदद
पीरियड फ्लू कोई मेडिकल कंडीशन नहीं है और न ही इसका कारण माइक्रोब्स होते हैं, इसलिए इसका कोई सटीक इलाज नहीं है. हालांकि डॉक्टरों के मुताबिक कुछ बातों का ध्यान रखकर इस समस्या को कम किया जा सकता है.

    • हीटिंग पैड के इस्तेमाल से पेट के निचले हिस्से के दर्द को कम किया जा सकता है.
    • ज्यादा से ज्यादा आराम करें.
    • कई बार कब्ज की समस्या या उल्टी होने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है. इसलिए खूब पानी पिएं और लिक्विड डाइट लेते रहें. पानी उबाल कर पिएं.
    • फास्ट फूड और जंक फूड के बजाय फल, सब्जियां, नट्स, अनाज जरूर खाएं. इनमें फाइबर की मात्रा बहुत अच्छी होती है.
    • कम से कम तनाव लें और दिनभर अपने मनपसंद कामों में व्यस्त रहें.
    • भरपूर नींद भी जरूरी है. नींद की कमी से भी कई तरह की समस्याएं होती हैं.
  • अगर आपको समस्या ज्यादा लगती है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *